|| भजन ||

(तर्ज:एक तेरा साथ हमको)

दे दो थोडा प्यार, मैया तेरा क्या घट जायेगा,
ये बालक भी तर जायेगा |
छोड़ तेरा दरबार, मैया और कहाँ ये जायेगा,
ये बालक भी तर जायेगा ||

है पुराना माँ, रिश्ता हमारा जो, उसे तुम याद करो
एहसान माँ कर दो, बालक तुम्हारा हूँ, अब सर पर हाथ धरो
प्यार का रिश्ता , हमारा टूटने न पायेगा |1|
ये बालक भी तर जायेगा….

दे दिया तुमने , सबको सहारा माँ , जो द्वारे आया है
भर दिया दमन, सबका ख़ुशी से माँ, जो अर्जी लाया है
मुझको देने से, खजाना कम नहीं हो जायेगा |2|
ये बालक भी तर जायेगा….

कश्ती हमारी माँ, तेरे हवाले है, उसे तुम पार करो
गर दिया तुमने, इसको किनारा माँ, तो ये विश्वास करो
ये तेरा दरबार, जय जयकारों से गूंज जायेगा |3|
ये बालक भी तर जायेगा….